- Advertisement -
HomeMUSIC LYRICSBhajan Lyrics In Hindi

Bhajan Lyrics In Hindi

- Advertisement -

Bhajan Lyrics In Hindi| भजन लिरिक्स हिन्दी में 

Bhajan Lyrics In Hindi- यदि आप शिव भजन ,कृष्ण  भजन की तलस में हैं तो बिलकुल सही जगह आए हैं |इस आर्टिकल में दिल को छु लेने वाला आपको कृष्ण और शिव  का Bhajan Lyrics In Hindi संग्रह मिलेगा|आइये निम्नवत भजन के लिरिक्स से अवगत हुआ जाए :

शिव भजन:

  1. आ लौट के आजा भोलेनाथ
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    तेरा सुना पड़ा रे कैलाश
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    आ लौट के आजा भोलेनाथ
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    अंगो पे विभूति गले में माला
    पहने है शंकर भोला
    तुम हो सबका पालन हार
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    आ लौट के आजा भोलेनाथ
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    माथे पे चंदा जटा में गंगा
    जटा से बहती धारा
    सबका करता तू बेडा पार
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    आ लौट के आजा भोलेनाथ
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    हाथो में डमरू पास में त्रिशूल
    नंदी पे करता सवारी
    सबका तू है पालनहार
    तुझे माँ गौरा बुलाती है
    आ लौट के आजा भोलेनाथ
    तुझे माँ गौरा बुलाती है |

    2.मेरा भोला है भंडारी करे नंदी की सवारी लिरिक्स

    भोले भोले.. महादेवा..
    सबना  दा रखवाला ओ शिवजी
    डमरूवाला जी डमरू वाला
    उपर कैलाश रहंदा भोले नाथजी…
    धर्मियो जो तारदे शिवजी
    पापिया जो मारदा जी पापिया जो मारदा
    बड़ा ही दयाल मेरा भोले अमली
    ॐ नमः शिवाय शम्भु ॐ नमः शिवाय
    ॐ नमः शिवाय शम्भु ॐ नमः शिवाय
    महादेव तेरा डमरू डम डम,
    डम डम बजतो जाये रे हो महादेवा…
    ॐ नमः शिवाय शम्भु
    सर से तेरी बेहती गंगा काम मेरा हो जाता चंगा
    नाम तेरा जब लेता ता ता ता महादेवा…
    मां पियादे घरे ओ गोरा
    महला च रहन्दी जी महला च रेहन्दी
    विच सम्साना राहंदा भोले नाथ जी
    कालेया कुंडला वाला मेरा भोले बाबा
    किधर कैलाश तेरा डेरा ओ जी…
    सर पे तेरे ओं गंगा  मैया विराजे
    मुकुट पे चंदा मामा ओं जी
    ॐ नमः शिवाय शम्भु ॐ नमः शिवाय
    भंग जे पिन्दा ओं शिवजी
    धुनी रमान्दा जी धुनी रमान्दा
    बड़ा ही तपारी मेरा भोले अमली
    मेरा भोला है भंडारी करता नंदी की सवारी
    भोलेनाथ रे ओं शंकर नाथ रे
    गौरा भांग रगड़ के बोली
    तेरे साथ है भूतो की टोली
    मेरे नाथ रे शम्भू  नाथ रे
    ओं भोले बाबा जी दर तेरे मै आया जी
    झोली खाली लाया जी खाली झोली भरदो जी
    कालिया सर्पा वाला मेरा भोले बाबा
    शिखरे कैलाशा विच रहंदा ओं जी
    ॐ नमः शिवाय शम्भु ॐ नमः शिवाय

    3.हे शम्भु बाबा मेरे भोलेनाथ लिरिक्स

    हे शम्भु बाबा मेरे भोलेनाथ
    तीनो लोक में तू ही तू
    श्रद्धा सुमन मेरा मन बेलपत्री
    जीवन भी अर्पण कर दू
    जग का स्वामी है तू अंतरयामी है तू
    मेरे जीवन की अनमिट कहानी है तू
    तेरी शक्ति अपार तेरा पावन है द्वार
    तेरी पूजा मेरा जीवन आधार
    धुल तेरे चरणों की लेकर
    जीवन को साकार किया
    हे शिव शंकर मेरे भोलेनाथ …
    तीनो लोक में तू ही तू
    मन में है कामना और कुछ जानू ना
    जिंदगी भर करू तेरी आराधना
    सुख की पहचान दे तू मुझे  दे
    प्रेम सबसे करू ऐसा वरदान दे
    तूने दिया बल निर्बल को
    अज्ञानी को ज्ञान दिया
    हे शिव शंकर  मेरे भोलेनाथ..
    हे शम्भु बाबा मेरे भोलेनाथ
    तीनो लोक में तू ही तू
    श्रद्धा सुमन मेरा मन बेलपत्री
    जीवन भी अर्पण कर दू

4.

ये तेरा करम है भोले भजन लिरिक्स

ये तेरा करम है भोले मेरी बात जो बनी है
ये तेरा करम है भोले मेरी बात जो बनी है
हुए तेरे मुरीद हम है मेरी बात जो बनी है
मुझे खाक से उठाके फ़लक पे बिठा दिया है
किस्मत का खोटा सिक्का तूने चला दिया है
ये रहमत क्या कम है भोले मेरी बात जो बनी है
ये तेरा करम है भोले मेरी बात जो बनी है
मेरी जिंदगी ये भोले पहले नही थी आसान
दर तेरे जब से आया पलटा दिया है पासा
तेरे दर्शन में दम है भोले मेरी बात जो बनी है
ये तेरा करम है भोले मेरी बात जो बनी है
ये तेरा करम है भोले मेरी बात जो बनी है
हुए तेरे मुरीद हम है मेरी बात जो बनी है

5.

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना लिरिक्स

फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

नित ध्यान धरु तेरा बिगड़ी को बना जाना
तुझे अपना समझकर मै फरियाद सुनाता हु
तेरे दरपर आकर मै नित धुनी रमाता हु
क्यों भूल गये भगवन मुझे समझ के बेगाना
फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना
मेरी नाव भवर डोले तुम्ही तो खेवैया हो
जग के रखवाले तुम तुम ही तो कन्हैया हो
कर नंदी सवारी तुम भवपार लगा जाना
फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना
तुम बिन न कोई मेरा अब नाथ सहारा है
इस जीवन को मैंने तुझ पर ही वारा है
मर्जी है तेरी बाबा अच्छा नही तडपाना
फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना
नैनो में भरे आँसू क्यों तरस न खाते हो
क्या दोष हुआ मुझसे मुझे क्यों ठुकराते हो
अब मैहर करो बाबा सुन के मेरा अफसाना
फरियाद मेरी सुनकर भोलेनाथ चले आना

6.

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे भोलेनाथ आये है लिरिक्स

सजा दो घर को गुलशन सा
मेरे भोलेनाथ आये है
लगी कुटिया भी दुल्हन सी
मेरे भोलेनाथ आये है
पखारो इनके चरणों को
बहाकर प्रेम की गंगा
बिछा दो अपनी पलकों को
मेरे भोलेनाथ आये है
उमड़ आयी मेरी आँखे
देखकर अपने बाबा को
हुयी रोशन मेरी गलिया
मेरे भोलेनाथ आये है
तुम आकर फिर नही जाना
मेरी इस सुनी दुनिया से
कहू हरदम यही सबसे
मेरे भोलेनाथ आये है
लगी कुटिया भी दुल्हन सी
मेरे भोलेनाथ आये है
सजा दो घर को गुलशन सा 
मेरे भोलेनाथ आये है 

7.नगर में जोगी आया भेद कोई समझ ना पाया लिरिक्स

|| श्लोक ||
ऊँचे ऊँचे मंदिर तेरे
ऊँचा है तेरा धाम
हे कैलाश के वासी भोलेबाबा
हम सब करते है तुम्हे प्रणाम
नगर में जोगी आया
भेद कोई समझ ना पाया
अजब है तेरी माया
सब से बड़ा है तेरा नाम
भोलेनाथ भोलेनाथ भोलेनाथ
अंग विभुती गले रूद्र माला
शेषनाग लिपटाओ,
सिर पे गंगा भाल चन्द्रमा
घर घर अलख जगायो
यशोदा के घर आया,
आके अलख जगाया
सब से बड़ा है तेरा नाम
भोलेनाथ भोलेनाथ भोलेनाथ
ले भिक्षा निकली नंदरानी
कंचन थाल भरायो
ले भिक्षा जा जोगी आसन
मेरो लाल डरायो
नगर में जोगी आया भेद
कोई समझ ना पाया
सब से बड़ा है तेरा नाम
भोलेनाथ भोलेनाथ भोलेनाथ
ना चाहिए तेरी दौलत दुनिया
ना ही कंचन माया
अपने लाल का दरश करादे
मै दर्शन को आया
नगर में जोगी आया
भेद कोई समझ ना पाया
सब से बड़ा है तेरा नाम
भोलेनाथ भोलेनाथ भोलेनाथ
तिन लोक के कर्ताधर्ता
तेरी गोद में आया
सूरदास बलिहारी कन्हैया
यशोमती दिखलाया
नगर में जोगी आया
भेद कोई समझ ना पाया
सब से बड़ा है तेरा नाम
भोलेनाथ भोलेनाथ भोलेनाथ

 8.शिवजी तेरे द्वार हम भी आयेंगे लिरिक्स

शिवजी तेरे द्वार हम भी आयेंगे
गंगाजल से आपको हम नहलायेंगे
जनम जनम का प्यासा ये मन
तेरे शरण में ही आयेंगे हम
हम दीवाने हो गये है आपके
हर साँस में तेरे गुण गायेंगे
बोलो बोलो बम बम तेरे मिट जाये गम
दुःख दूर रहेंगे तुझसे जनम जनम
शिवजी तेरे द्वार हम भी आयेंगे
गंगाजल से आपको हम नहलायेंगे

9.

सांसो की माला पे सिमरु मै शिव का नाम लिरिक्स

सांसो की माला पे
सिमरु मै शिव का नाम
अब तो दुनियादारी से है
मेरा क्या काम
शिव के रंग में ऐसी डूबा
बन गया एक ही रूप
शिव की माला जपते जपते
हो गयी सुबह श्याम
सांसो की माला पे…
शिवजी मेरे दिल में बसे है
संग रहे दिन रात
अपने मन की मै जानू
सब के मन की राम
सांसो की माला पे
शिवजी मेरे अंतरयामी
शिवजी मेरे स्वामी
शिवजी के चरणों में अर्पण
ये जीवन तमाम
सांसो की माला पे…
प्रेम पियाला जबसे पिया है
जी का है ये हाल
अंगारों पे नींद आ जाए
और कांटो पे आराम
सांसो की माला पे…
सांसो की माला पे
सिमरु मै शिव का नाम
अब तो दुनियादारी से है
मेरा क्या काम
सांसो की माला पे
सिमरु मै शिव का नाम

10.सांसो की माला पे सुमिरूँ मै शिव का नाम लिरिक्स

सांसो की माला पे
सिमरु मै शिव का नाम
अब तो दुनियादारी से है
मेरा क्या काम
शिव के रंग में ऐसी डूबा
बन गया एक ही रूप
शिव की माला जपते जपते
हो गयी सुबह श्याम
सांसो की माला पे…
शिवजी मेरे दिल में बसे है
संग रहे दिन रात
अपने मन की मै जानू
सब के मन की राम
सांसो की माला पे
शिवजी मेरे अंतरयामी
शिवजी मेरे स्वामी
शिवजी के चरणों में अर्पण
ये जीवन तमाम
सांसो की माला पे…
प्रेम पियाला जबसे पिया है
जी का है ये हाल
अंगारों पे नींद आ जाए
और कांटो पे आराम
सांसो की माला पे…
 
सांसो की माला पे
सिमरु मै शिव का नाम
अब तो दुनियादारी से है
मेरा क्या काम
सांसो की माला पे
सिमरु मै शिव का नाम

Krishna Bhajan:

 

काली कमली वाला मेरा यार है लिरिक्स

1.

शहनाईयों की सदा कह  रही है

ख़ुशी की मुबारक घडी आ गयी है
सजी है आज महफ़िल श्याम के रंग में
सभी के लबो पर ख़ुशी छा गयी है
आ….  आ….  आ…. आ….
काली कमली वाला मेरा यार है
मेरे मन का मोहन तू दिलदार है
तू मेरा यार है , मेरा दिलदार है
मन मोहन मै तेरा दिवाना
गाऊं बस अब यही तराना
श्याम सलोने तू मेरा रिजवार है
मेरे मन का मोहन तू दिलदार है
तू मेरा मै तेरा प्यारे
यह जीवन अब तेरे सहारे
हाथ तेरे इस जीवन की पतवार है
मेरे मन का मोहन तू दिलदार हैपागल प्रीत की एक ही आशा
दर्दे दिल दर्शन का प्यासा
तेरे हर वादे पे मुझे ऐतबार है
मेरे मन का मोहन तू दिलदार हैकाली कमली वाला मेरा यार है
मेरे मन का मोहन तू दिलदार है
तू मेरा यार है मेरा दिलदार है
2.

जो तू मिटाना चाहे जीवन की तृष्णा कृष्ण भजन लिरिक्स

जो तू मिटाना चाहे जीवन की तृष्णा
सुबह श्याम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा

कृष्ण नाम पावन पावन कृष्ण नाम प्यारा प्यारा
जो ना बोले कृष्णा कृष्णा जग से ओ हारा हारा
मन का मिटे अंधियारा बोल कृष्णा कृष्णा
सुबह श्याम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा

जिसको मिली ना पीड़ा सुख का मरम क्या जाने
जो न ध्यावे कृष्णा कृष्णा निज का धरम क्या जाने
चाहे अगर हो उजियारा बोल कृष्णा कृष्णा
सुबह श्याम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा

छोड़ दे भटकना दरदर तोड़ दे अहम का डेरा
भूल जा जगत के वैभव जग है दुःख का डेरा
फिरता है मारा मारा बोल कृष्णा कृष्णा
सुबह श्याम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा

 

3. छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल 

छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल
छोटो सो मेरो मदन गोपाल
आगे आगे गैया पीछे पीछे ग्वाल
बिच में मेरो मदन गोपाल
छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल
कारी कारी  गैया गोरे गोरे ग्वाल
श्याम बरन मेरो मदन गोपाल
छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल
घास खाए गैया दूध पिवे  ग्वाल
माखन खावे मेरो मदन गोपाल
छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल

 

छोटी छोटी लकुटी छोटे छोटे हाथ
बंसी बजावे मेरो मदन गोपाल
छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल
छोटी छोटी सखिया मधुबन बाग
रास रचावे मेरो मदन गोपाल
छोटी छोटी गैया छोटे छोटे ग्वाल
4.मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है लिरिक्स

मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है
करते हो तुम कन्हैया मेरा नाम हो रहा है

पतवार के बिना ही मेरी नाव चल रही है
बिन मांगे हे कन्हैया हर चीज मिल रही है
अब क्या बताऊ मोहन आराम हो रहा है
मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है

मेरी जिंदगी में तुम हो किस बात की कमी है
मुझे और अब किसी की परवाह भी नही है
तेरी बदौलतो से सब काम हो रहा है
मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है

दुनिया में होंगे लाखो तेरे जैसा कौन होंगा
तुज जैसा बंदा परवर भला ऐसा कौन होगा
अरे थामा है तेरा दामन आराम हो रहा है
मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है

 

5. अरे द्वारपालों कहाईया से कह दो लिरिक्स 

देखो देखो ये गरीबी,ये  गरीबी का हाल
कृष्ण के दर पे विश्वास लेके आया हूँ
मेरे बचपन का यार है.. मेरा श्याम,
यही सोच कर मै आस कर के आया हूँ.
अरे द्वारपालो कन्हैया से कह दो  
के दरपे सुदामा गरीब आ गया है
भटकते भटकते ना जाने कहा से
तुम्हारे महल के करीब आगया है
ना सरपे है पगडी  ना तन पे है जामा,
बतादो कन्हैया को नाम है सुदामा हा…
बतादो कन्हैया को नाम है सुदामा.
बस  एक बार मोहन से जा कर के कह दो
के मिलने सखा बद‍नसीब आ गया है
अरे द्वारपालो कन्हैया से कहदो
के दरपे सुदामा गरीब आगया है
सुनते ही दौड़े चले आये मोहन,
लगाया गले से सुदामा को मोहन हा…
लगाया गले से सुदामा को मोहन
हुआ रुख्मिणी  को बहुत ही अचंभा
ये  मेहमान कैसा अजीब आगया है
बराबर में अपने सुदामा बिठाये
चरण आँसुओं से श्याम ने धुलाये
चरण आँसुओं से श्याम ने धुलाये
ना घबरायो प्यारे जरा तुम सुदामा
खुशी का समां तेरे करीब आ गया है
अरे द्वारपालो कन्हैया से कह दो
के दरपे सुदामा गरीब आगया है
 
Are Dwar Palo Kanhaiya Se Keh Do Lyrics In Hindi 
Krishna Bhajan 
Are Dwarpalo Lyrics 
6.सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
दिल दीवाना हो गया, दिल दीवाना हो गया
एक तो तेरे नैन तिरछे, दूसरा काजल लगा
तीसरा नज़रें मिलाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
एक तो तेरे होंठ पतले, दूसरा लाली लगी
तीसरा तेरा मुस्कुराना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
एक तो तेरे हाथ कोमल, दूसरा मेहँदी लगी
तीसरा मुरली बजाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
एक तो तेरे पाँव नाज़ुक, दूसरा पायल बंधी
तीसरा घुंगरू बजाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
एक तो तेरे भोग छप्पन, दूसरा माखन धरा
तीसरा खिचडे का खाना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
एक तो तेरे साथ राधा दूसरा रुक्मण खड़ी
तीसरा मीरा का आना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन,दिल दीवाना हो गया
एक तो तुम देवता हो, दूसरा प्रियतम मेरे
तीसरा सपनों में आना, दिल दीवाना हो गया
सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया
दिल दीवाना हो गया, दिल दीवाना हो गया
7.बिगड़ी किस्मत को जगा दे ऐसा मेरा श्याम है 
बिगड़ी किस्मत को जगा दे ऐसा मेरा श्याम है
रोते को पल में हसादे ऐसा मेरा श्याम है
किस पे कब हो जाये खुश ये जानता कोई नही
फुल पतझड़ में खिलादे ऐसा मेरा श्याम है
रोते को पल में हसादे ऐसा मेरा श्याम है
रास्ता मुश्किल हो फिर भी गिरने देता कभी
राह पर चलना सिखा दे ऐसा मेरा श्याम है
रोते को पल में हसादे ऐसा मेरा श्याम है
अपनों से मिलता कुंदन भाव इस संसार में
घाव पे मरहम लगा दे ऐसा मेरा श्याम है
रोते को पल में हसादे ऐसा मेरा श्याम है
बिगड़ी किस्मत को जगा दे ऐसा मेरा श्याम है 
रोते को पल में हसादे ऐसा मेरा श्याम है 

Bigadi Kismat Ko Jaga De Aisa Mera Shyam Hai 

Aisa Mera Shyam Hai Bhajan Lyrics in Hindi
Aisa Mera Shyam Hai Lyrics
8.तेरी गलियों का हूँ आशिक तू एक नगीना है लिरिक्स
तेरी गलियों का हु आशिक तू एक नगीना है,
तेरी नजरो से ये मुझको ये जाम पीना है,
तेरी गलियों का  हु आशिक तू एक नगीना है,
तेरे बिना कोई दूसरा नही मेरा
छोडू नही कसके पकड़ा है दामन तेरा
तू ही ज्ञाता तुही ध्याता तुही विधाता है
तेरी गलियों का हु आशिक तू एक नगीना है,
मेरे हमदम मेरे साथी मेरे साथी हमदम
तेरी ख़ुशी मेरी ख़ुशी तेरा गम मेरा गम
तू लहू है तू जान है तुही धडकन मेरी
तेरी गलियों का हु आशिक तू एक नगीना है,
दिया है दर्द जो तुमने तुही दवा देना
तुम रहना साथ मेरे साया बनकर
तुही दरिया तुही साहिल तूही सफीना है
तेरी गलियों का हु आशिक तू एक नगीना है

9.

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन लिरिक्स द्वारा अनूप जलोटा
 
है आँख वो जो श्याम का दर्शन किया करे,
है शीश जो प्रभु चरण में वंदन किया करे।
बेकार वो मुख है जो रहे व्यर्थ बातों में,
मुख है वोजो हरीनाम का सुमिरन किया करे॥
हीरेमोती से नहीं शोभा है हाथकी।
है हाथ जो भगवान् का पूजन किया करे॥
मर के भी अमरनाम है उस जीवका जग में।
प्रभु प्रेम में बलिदान जो जीवन किया करे॥
ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन,
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥ 
महलों में पली बन के जोगन चली।
मीरा रानी दीवानी कहाने लगी॥
ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली गली  हरी गुण गाने लगी॥
कोई रोके नहीं कोई टोके नही
मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी।
बैठी संतो के संग रंगी मोहन के रंग
मीरा प्रेमी प्रीतम को मनाने लगी।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥
ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
राणा ने विष दिया मानो अमृत पिया,
मीरा सागर में सरिता समाने लगी।
दुःख लाखों सहे मुख से गोविन्द कहे,
मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥
ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥
 
10.

छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके लिरिक्स

छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायी के
नैना मिलायी के नैना मिलायी के

बल बल जाऊ मै तोरे रंग रजवा
अपने ही रंग रंग लीनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

प्रेम भक्ति का मधुआ पिलाई के
मतवारी कर दीनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

हरी हरी चुडिया गोरी गोरी बैया
कलैइया पकड़ धर लीनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

श्याम नाम की मेहंदी रचयिके
मोहे सुहागन किनी रे मोसे नैना मिलायीके
छाप तिलक सब छिनी रे मोसे नैना मिलायीके

 

FAQ:

Q-भजन का क्या महत्व है?

ANS-भजन वह वस्तु है ,जिसे व्यक्ति भोग-सामग्री के बिना भी भजन सुनकर या गाकर आनंदित हो जाता है, वहीं भजन का रस है। रामचरितमानस में गोस्वामी तुलसीदासजी ने कहा है कि:- “जो साधक भगवान का विश्वास पाने के लिए भजन करता है, प्रभु अपनी असीम कृपा से उसे अपना विश्वास प्रदान करके उसके जीवन को सफल बना देते हैं।”

Q-भजन कितने प्रकार के होते हैं?

ANS-भजन के कई प्रकार है |इसमें श्रवण, भजन-कीर्तन, नाम जप-स्मरण, मंत्र जप, पाद सेवन, अर्चन, वंदन, दास्य, सख्य, पूजा-आरती, प्रार्थना, सत्संग आदि शामिल हैं। इसे नवधा भक्ति कहते हैं। संगीत में मार्गी के माध्यम से भक्त भगवान से सीधे कनेक्ट हो जाता है |गायन करते समय भक्त इतना डूब जाता है कि वह रुदन करने लगता है |यह है भगवान का भजन |

 

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

604FansLike
2,458FollowersFollow
133,000SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -

Related Blogs

- Advertisement -
Whatsapp Icon