- Advertisement -
Homelatest newsKabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh

Kabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh

- Advertisement -

Kabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh

Kabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh- जब भी आप नई कार खरीदेंगे, तो आपको डेढ़ लाख 1.50लाख रुपये का लाभ होगा |इस पोस्ट में आपको यह जानकारी मिलेगी कि आप अपनी कबाड़ हो चुकी कार से कैसे फायदा कमा सकते हैं |आइये पूरी निम्नवत पूरी जानकारी से अवगत हुआ जाय |

स्क्रैच पॉलिसी – स्क्रेच पॉलिसी को लेखर ज़्यादातर लोगों की सोच नकारात्मक है |लोगों का मानना है, कि कार भी खराब होगी और नुकसान भी होगा |तो आपको बता दें कि ऐस कुछ भी नहीं होगा |माना कि आप दिल्ली में हैं |वहाँ आप अपनी कार स्क्रेप कराने के लिए ले जाते हैं |अब आपको ज्ञात हो कि स्क्रैपिंग करने से आपको दो फायदे होंगे |

  1. आपको डिपॉजिट सर्टिफिकेट मिलेगा|जब आप इससे नई कार खरीदेंगे, तो उसकी एक्स-शोरूम कीमत पर 5%का फायदा मिलेगा|
  2. उस कार की रजिस्ट्रेशन फीस नहीं लगेगी |हुई न फायदे की बात 

अब हम आपको उदाहरण के साथ समझाते हैं|जैसे- मान लीजिये की आप कार को 10साल चला लिए ,उसके बाद आप स्क्रैप कराये, क्योंकि इसे कोई अब तो खरीदेगा नहीं |इसका मतलब कबाड़ में जाना निश्चित है |लेकिन जब आप कबाड़ में बेंचेंगे तो, हो सकता है 20-30 हजार या उससे थोड़ा ज्यादे मिल जाय|

लेकिन जब इसी कार को आप स्क्रेप कराकार 10लाख की नई कार खरीदते हैं |तब आपको 5%का डिस्काउंट मिलेगा |और रजिस्ट्रेशन फीस भी नहीं लगेगी|इसका मतलब हुआ की आपको एक्स-शोरूम कीमत पर 50हज़ार रुपये का छूट मिलेगी|

इतना ही नहीं, 1लाख रुपये की RTO फीस भी बच जाएगी |यानि आपको डेढ़ लाख (1.50k) का लाभ होगा |आपको ज्ञात हो कि दिल्ली में RTO फीस 10लाख या उससे ज्यादे कीमत वाली कार पर 10% RTO फीस लगती है |

  • कबाड़ कार रिसाइकल प्रथम यूनिट का शुभारम्भ  

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा नोएडा में पुरानी गाड़ियों का रिसाइकिल करने का पहली यूनिट का शुभारंभ भी कर दिया गया है | स्क्रेप सेंटर मारुति सुजुकी और टोयोटा द्वारा रैडि किया गया है |इसकी एरिया कि बात करें तो 10,993 वर्गमीटर है |इस सेंटर में 44करोड़ का निवेश किया गया है |

  • कार स्क्रेपिग कैसे किया जाता है ?

कार स्क्रेपिंग के बारे में अधिकतर लोग नहीं जानते है,कि कार स्क्रैपिंग कैसे कराई जाती हैं |यानि आपको कार स्क्रैपिंग करानी हो तो आपको क्या करना होगा ? अब आपको इसमें नीचे नीचे स्टेप बाइ स्टेप यही बताएँगे|जिससे आपको पूरी जानकारी सही रूप से प्राप्त हो|

  1. कार स्क्रैपिंग होगी या नहीं,कैसे पता चलेगा?

आपको ज्ञात हो कि इस पॉलिसी के अंतर्गत वहीं कार आएगी जिसकी अवधि 10-15साल कि होगी |10 साल पुरानी डीजल गाड़ी होनी चाहिए और 15साल पुरानी पेट्रोल कार होनी चाहिए| ऐसी पॉलिसी बनाई गयी है |हलांकि अब यह भी निश्चित किया गया है कि कारों का फिटनेस टेस्ट किया जाएगा |इतना ही नहीं कार का इंश्योरेंस करने से पहले कार का फिटनेस सर्टिफिकेट जरूरी हो जाएगा |

2. स्क्रैपिंग के लिए कहाँ ले जाना होगा कार को ?

सरकार द्वारा व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी को वॉलन्टरी व्हीकल फ्लीट मोडर्नाइजेशन प्रोग्राम (VVMP)नाम दिया गया है |यदि किसी की गाड़ी फिटनेस टेस्ट में फेल हो जाती है तो उसे देश के मौजूद 60-70रजिस्टर्ड स्क्रेप फैसिलिटी में से किसी भी एक सेंटर में अपनी गाड़ी जमा करनी होगी |

सभी बड़े और मेट्रो शहरों में स्क्रैपिंग  सेंटर खोले जा रहे हैं |यदि आपके शहर में  यह सुविधा नहीं है ,तो आपको नजदीक के शहर वाले सेंटर में अपनी कार को लेकर जाना होगा |

3.कार स्क्रैपिंग पर ले जाने से पहले की  तैयारी क्या होगी | इंपोर्टेंट दस्तावेज़ 

आपको अपनी कार से संबन्धित सभी दस्तावेज़ जैसे – रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC),ड्राइविंग लाइसेन्स,इंश्योरेंस पेपर ,फिटनेस सर्टिफिकेट ,पहचान प्रमाणपत्र इत्यादि की जरूरत पड़ती है | इन सभी दस्तावेजों का फोटोकापी करवालें क्योंकि  इन सभी दस्तावेज़ को स्क्रेपिंग सेंटर में दिखाना पड़ेगा |जब ये सभी बेसिक फोर्मेल्टी पूरी हो जाएगी,तो उसके बाद कार स्क्रैपिंग का काम शुरू हो जाएगा |

आपके सामने आपकी गाड़ी के एक- एक पार्ट को अलग किया जाएगा |कार के सभी इंपोर्टेंट कम्पोनेंट्स /पार्ट्स को अलग कर दिया जाएगा|ताकि इन्हें दोबारा प्रयोग में लाया जा सके |आपको बता दें कि खासकर स्टील सबसे बड़ा रॉ मेटेरियल होता है |

बैटरी,धातु ऑयल ,कूलेंट ग्लोबल ,एनवायर्नमेंट स्टैण्डर्ड के अनुसार नष्ट किए जाएँगे |ताकि इन्हें दुबारा प्रयोग में नहीं लाया जा सके|सबसे इंपोर्टेंट बात यह है कि, कार का कोई भी पार्ट आपको नहीं दिया जाएगा |एक और महत्वपूर्ण बात जब स्क्रेपिंग प्रोसेस पूरी हो जायेगी  ,तो आपकी जितनी ओरिजिनल दस्तावेज़ जमा हुई हों उसे वापस लेना नहीं भूलें |साथ हीं इंजन नंबर,चेचीस नंबर की प्लेट भी भी ले लें|

4. स्क्रैपिंग सेंटर से आपको क्या मिलेगा ?

जिस शहर के स्क्रेपिंग सेंटर में आपकी कार की स्क्रेपिंग की जाएगी,वहीं से आपको स्क्रेपिंग से संबन्धित सभी प्रमाण पत्र दिया जाएगा |जिसे डिपॉजिट सर्टिफिकेट भी कहा जाता है |इस स्क्रैपिंग सर्टिफिकेट में आपकी कार से संबन्धित यानि गाड़ी का मॉडल नंबर,रजिस्ट्रेशन नंबर ,गाड़ी किस तारीख को स्क्रैप की गई |इस बात की सारी जानकरियां अंकित रहेंगी|जब आप कोई भी नई गाड़ी खरीदने के लिए  किसी एक्स-शोरूम में जाएंगे तो,इसी पेपर पर आपको 5% तक का डिस्काउंट मिलेगा|इसके अलावा नयें व्हीकल की रजिस्ट्रेशन फीस भी नहीं लगेगी |

 5. RTO जाकर कार स्क्रैपिंग की जानकारी देनी होगी
अब आखिरी स्टेप में आपको  हम बता दें कि जब कार की स्क्रैपिंग प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो , उसके बाद आपको एक डिस्ट्रक्शन सर्टिफिकेट भी जारी किया जाएगा |इस सर्टिफिकेट को लेकर आप रिजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस में जमा करेंगे |इसके बाद आपके  गाड़ी को सड़क पर चलने वाली गाड़ियों के लिस्ट से में से बाहर कार दिया जाएगा |ताकि भविष्य में कभी कोई आपके गाड़ी के नंबर का गलत इस्तेमाल ना कार सके |  यह रही सभी जानकारियाँ |उम्मीद है आप हमारे इस महत्वपूर्ण आर्टिकल से जरूर लाभान्वित होंगे |

यह भी पढ़ें

  1. Who is Owner of Airtel India
  2. ग्राम सुरक्षा योजना के लाभ 
  3. श्रम योगी मान धन योजना के लाभ
  4. प्रधानमंत्री कन्या आशीर्वाद योजना 
  5. भाग्य लक्ष्मी योजना 

 

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

604FansLike
2,458FollowersFollow
133,000SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -

Related Blogs

- Advertisement -
Whatsapp Icon