- Advertisement -
Homelatest newsKabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh

Kabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh

- Advertisement -

Kabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh

Kabadi Ho Chuki Purani Car Se Kaise Payein Laabh- जब भी आप नई कार खरीदेंगे, तो आपको डेढ़ लाख 1.50लाख रुपये का लाभ होगा |इस पोस्ट में आपको यह जानकारी मिलेगी कि आप अपनी कबाड़ हो चुकी कार से कैसे फायदा कमा सकते हैं |आइये पूरी निम्नवत पूरी जानकारी से अवगत हुआ जाय |

स्क्रैच पॉलिसी – स्क्रेच पॉलिसी को लेखर ज़्यादातर लोगों की सोच नकारात्मक है |लोगों का मानना है, कि कार भी खराब होगी और नुकसान भी होगा |तो आपको बता दें कि ऐस कुछ भी नहीं होगा |माना कि आप दिल्ली में हैं |वहाँ आप अपनी कार स्क्रेप कराने के लिए ले जाते हैं |अब आपको ज्ञात हो कि स्क्रैपिंग करने से आपको दो फायदे होंगे |

  1. आपको डिपॉजिट सर्टिफिकेट मिलेगा|जब आप इससे नई कार खरीदेंगे, तो उसकी एक्स-शोरूम कीमत पर 5%का फायदा मिलेगा|
  2. उस कार की रजिस्ट्रेशन फीस नहीं लगेगी |हुई न फायदे की बात 

अब हम आपको उदाहरण के साथ समझाते हैं|जैसे- मान लीजिये की आप कार को 10साल चला लिए ,उसके बाद आप स्क्रैप कराये, क्योंकि इसे कोई अब तो खरीदेगा नहीं |इसका मतलब कबाड़ में जाना निश्चित है |लेकिन जब आप कबाड़ में बेंचेंगे तो, हो सकता है 20-30 हजार या उससे थोड़ा ज्यादे मिल जाय|

लेकिन जब इसी कार को आप स्क्रेप कराकार 10लाख की नई कार खरीदते हैं |तब आपको 5%का डिस्काउंट मिलेगा |और रजिस्ट्रेशन फीस भी नहीं लगेगी|इसका मतलब हुआ की आपको एक्स-शोरूम कीमत पर 50हज़ार रुपये का छूट मिलेगी|

इतना ही नहीं, 1लाख रुपये की RTO फीस भी बच जाएगी |यानि आपको डेढ़ लाख (1.50k) का लाभ होगा |आपको ज्ञात हो कि दिल्ली में RTO फीस 10लाख या उससे ज्यादे कीमत वाली कार पर 10% RTO फीस लगती है |

  • कबाड़ कार रिसाइकल प्रथम यूनिट का शुभारम्भ  

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा नोएडा में पुरानी गाड़ियों का रिसाइकिल करने का पहली यूनिट का शुभारंभ भी कर दिया गया है | स्क्रेप सेंटर मारुति सुजुकी और टोयोटा द्वारा रैडि किया गया है |इसकी एरिया कि बात करें तो 10,993 वर्गमीटर है |इस सेंटर में 44करोड़ का निवेश किया गया है |

  • कार स्क्रेपिग कैसे किया जाता है ?

कार स्क्रेपिंग के बारे में अधिकतर लोग नहीं जानते है,कि कार स्क्रैपिंग कैसे कराई जाती हैं |यानि आपको कार स्क्रैपिंग करानी हो तो आपको क्या करना होगा ? अब आपको इसमें नीचे नीचे स्टेप बाइ स्टेप यही बताएँगे|जिससे आपको पूरी जानकारी सही रूप से प्राप्त हो|

  1. कार स्क्रैपिंग होगी या नहीं,कैसे पता चलेगा?

आपको ज्ञात हो कि इस पॉलिसी के अंतर्गत वहीं कार आएगी जिसकी अवधि 10-15साल कि होगी |10 साल पुरानी डीजल गाड़ी होनी चाहिए और 15साल पुरानी पेट्रोल कार होनी चाहिए| ऐसी पॉलिसी बनाई गयी है |हलांकि अब यह भी निश्चित किया गया है कि कारों का फिटनेस टेस्ट किया जाएगा |इतना ही नहीं कार का इंश्योरेंस करने से पहले कार का फिटनेस सर्टिफिकेट जरूरी हो जाएगा |

2. स्क्रैपिंग के लिए कहाँ ले जाना होगा कार को ?

सरकार द्वारा व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी को वॉलन्टरी व्हीकल फ्लीट मोडर्नाइजेशन प्रोग्राम (VVMP)नाम दिया गया है |यदि किसी की गाड़ी फिटनेस टेस्ट में फेल हो जाती है तो उसे देश के मौजूद 60-70रजिस्टर्ड स्क्रेप फैसिलिटी में से किसी भी एक सेंटर में अपनी गाड़ी जमा करनी होगी |

सभी बड़े और मेट्रो शहरों में स्क्रैपिंग  सेंटर खोले जा रहे हैं |यदि आपके शहर में  यह सुविधा नहीं है ,तो आपको नजदीक के शहर वाले सेंटर में अपनी कार को लेकर जाना होगा |

3.कार स्क्रैपिंग पर ले जाने से पहले की  तैयारी क्या होगी | इंपोर्टेंट दस्तावेज़ 

आपको अपनी कार से संबन्धित सभी दस्तावेज़ जैसे – रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC),ड्राइविंग लाइसेन्स,इंश्योरेंस पेपर ,फिटनेस सर्टिफिकेट ,पहचान प्रमाणपत्र इत्यादि की जरूरत पड़ती है | इन सभी दस्तावेजों का फोटोकापी करवालें क्योंकि  इन सभी दस्तावेज़ को स्क्रेपिंग सेंटर में दिखाना पड़ेगा |जब ये सभी बेसिक फोर्मेल्टी पूरी हो जाएगी,तो उसके बाद कार स्क्रैपिंग का काम शुरू हो जाएगा |

आपके सामने आपकी गाड़ी के एक- एक पार्ट को अलग किया जाएगा |कार के सभी इंपोर्टेंट कम्पोनेंट्स /पार्ट्स को अलग कर दिया जाएगा|ताकि इन्हें दोबारा प्रयोग में लाया जा सके |आपको बता दें कि खासकर स्टील सबसे बड़ा रॉ मेटेरियल होता है |

बैटरी,धातु ऑयल ,कूलेंट ग्लोबल ,एनवायर्नमेंट स्टैण्डर्ड के अनुसार नष्ट किए जाएँगे |ताकि इन्हें दुबारा प्रयोग में नहीं लाया जा सके|सबसे इंपोर्टेंट बात यह है कि, कार का कोई भी पार्ट आपको नहीं दिया जाएगा |एक और महत्वपूर्ण बात जब स्क्रेपिंग प्रोसेस पूरी हो जायेगी  ,तो आपकी जितनी ओरिजिनल दस्तावेज़ जमा हुई हों उसे वापस लेना नहीं भूलें |साथ हीं इंजन नंबर,चेचीस नंबर की प्लेट भी भी ले लें|

4. स्क्रैपिंग सेंटर से आपको क्या मिलेगा ?

जिस शहर के स्क्रेपिंग सेंटर में आपकी कार की स्क्रेपिंग की जाएगी,वहीं से आपको स्क्रेपिंग से संबन्धित सभी प्रमाण पत्र दिया जाएगा |जिसे डिपॉजिट सर्टिफिकेट भी कहा जाता है |इस स्क्रैपिंग सर्टिफिकेट में आपकी कार से संबन्धित यानि गाड़ी का मॉडल नंबर,रजिस्ट्रेशन नंबर ,गाड़ी किस तारीख को स्क्रैप की गई |इस बात की सारी जानकरियां अंकित रहेंगी|जब आप कोई भी नई गाड़ी खरीदने के लिए  किसी एक्स-शोरूम में जाएंगे तो,इसी पेपर पर आपको 5% तक का डिस्काउंट मिलेगा|इसके अलावा नयें व्हीकल की रजिस्ट्रेशन फीस भी नहीं लगेगी |

 5. RTO जाकर कार स्क्रैपिंग की जानकारी देनी होगी
अब आखिरी स्टेप में आपको  हम बता दें कि जब कार की स्क्रैपिंग प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो , उसके बाद आपको एक डिस्ट्रक्शन सर्टिफिकेट भी जारी किया जाएगा |इस सर्टिफिकेट को लेकर आप रिजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस में जमा करेंगे |इसके बाद आपके  गाड़ी को सड़क पर चलने वाली गाड़ियों के लिस्ट से में से बाहर कार दिया जाएगा |ताकि भविष्य में कभी कोई आपके गाड़ी के नंबर का गलत इस्तेमाल ना कार सके |  यह रही सभी जानकारियाँ |उम्मीद है आप हमारे इस महत्वपूर्ण आर्टिकल से जरूर लाभान्वित होंगे |

यह भी पढ़ें

  1. Who is Owner of Airtel India

 

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

604FansLike
2,458FollowersFollow
133,000SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -

Related Blogs

- Advertisement -