- Advertisement -
Homelatest newsBirth Certificate Se Pahale Milega Aadhar Card

Birth Certificate Se Pahale Milega Aadhar Card

- Advertisement -
Google News Follow

Birth Certificate Se Pahale Milega Aadhar Card

Birth Certificate Se Pahale Milega Aadhar Card- अब बच्चे को जन्म के साथ ही मिल जाएगा आधार नंबर,क्योंकि सभी अस्पतालों में शीघ्र ही एनरौलमेंट का काम शुरु कर दिया जाएगा |आपको ज्ञात हो की आधार कार्ड बनाने वाली अथौरिटी UIDAI जल्द ही अस्पतालों में नवजात शिशुओं को आधार कार्ड देने की तैयारी कर रही है |

इसके  लिए अस्पतालों में जल्द ही एनरोलमेंट शुरू किए जाएंगे |सब कुछ योजना के मुताबिक चला तो बच्चे का बर्थ सर्टिफिकेट आने से पहले ही उसके पास आधार कार्ड होगा |बर्थ सर्टिफिके मिलने में लगभग एक एक महीने लग जाता है |इस बावत समाचार एजेंसी ANI से बातचीत  में UIDAI के CEO सौरभ गर्ग ने कहा, कि हम नवजात शिशुओं को आधार नंबर देने के लिए बर्थ रजिस्टार के साथ टाई अप करने की कोशिश कर रहे हैं |

गर्ग ने कहा, कि 99.7% वयस्क आबादी को आधार के दायरे में लाया जा चुका है| इसके अंतर्गत अब तक देश की 131करोड़ आबादी को एनरोल किया गया है |अब हमारी कोशिश नवजात शिशुओं का नामांकन करने की है |उन्होंने कहा कि प्रति वर्ष 2 से ढाई करोड़ बच्चे जन्म लेते हैं |हम उन्हें आधार में एनरोल करने की प्रक्रिया में हैं |जैसे ही बच्चा जन्म लेगा उसी समय ही उसकी फोटो क्लिक करके आधार कार्ड दे दिया जाएगा |

फोकस डिटेल अपडेट करने पर 

सीईओ गर्ग ने बताया कि 5 साल से कम उम्र के बच्चों का हम बायोमैट्रिक नहीं लेते |लेकिन इससे बच्चे के माता या पिता में से किसी भी एक को जोड़ते हैं | जब बच्चा 5 साल का हो जाता है तब जाकर बच्चे का बायोमैट्रिक लिया जाता है |हमारी भरपूर कोशिश है कि पूरी आबादी को आधार नंबर प्राप्त हो जाय |

गत वर्ष दूर दराज के इलाकों में 10,000 कैंप लगाया गया था |हमें वहाँ पता चला था कि बहुत सारे लोगों के पास आधार नंबर नहीं है |इसलिए उन इलाकों में हमने हमारे टीम के साथ कैंप लगाकर 30 लाख लोगों को नामांकित किया गया |

हमने 2010 में पहला आधार नंबर जारी किया था |प्रारम्भ में हमारा ध्यान आधे से अधिक लोगों का नामांकन करने पर था|परंतु अब हमारा ध्यान इसे अपडेट करने पर है |लगभग 10 करोड़ लोग अपना नाम पता मोबाइल नंबर अपडेट करवाते या ऑनलाइन करते है| 140करोड़ बैंक खातों में से 120 करोड़ खातों को आधार से जोड़ा जा चुका है |

वोटर कार्ड से भी जुड़ेगा आधार

आने वाले समय में वोटर कार्ड से भी आधार कार्ड को जोड़ा जाएगा| 15दिसंबर 2021 को हुई कैबिनेट मीटिंग में इसके बिल को मंजूरी दे दी गई है | इसका मकसद चुनाव में धांधली यानि कि फर्जी वोटिंग को रोकना है | सरकार ने चुनाव आयोग की सिफ़ारिश के आधार पर ही यह फैसला किया है | आधार को वोटर कार्ड से जोड़ देने पर फर्जी वोटर कार्ड से होने वाली गड़बड़ी को रोका जा सकता है |

साल में 4 बार मिलेगा वोटर IDबनवाने का मौका 

प्रस्तावित बिल के अनुसार भारतीय युवाओं को प्रति वर्ष 4 अलग-अलग तारीखों में खुद को वोटर के तौर पर रजिस्टर करने की इजाजत भी देगा |यानि कि वोटर आईडी बनवाने के लिए अब साल में 4 तारीखों को कट ऑफ माना जाएगा |अब तक हर साल 1जनवरी या उससे पहले 18 साल के होने वाले युवाओं को ही वोटर के तौर पर रजिस्टर किए जाने की इजाजत है | एक 1 जनवरी के कट ऑफ डेट के चलते वोटर लिस्ट की कवायत से कई लोग वंचित रह जाते थे| केवल एक कट ऑफ डेट होने के कारण 2 जनवरी को 18 साल की आयु पूरी करने वाले व्यक्ति रजिस्ट्रेशन नहीं करा पता था |जिसके कारण उन्हें एक साल इंतजार करना पड़ता था |

अब हम वोटार id से संबन्धित कुछ महत्वपूर्ण जानकरियाँ निम्नवत जानेंगे

प्रश्न और उत्तर

1. प्रश्न-क्या वोटर कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने का नियम लागू हो गया है?

उत्तर -नहीं, अभी यह बिल संसद के दोनों सदनों (लोकसभा और राज्यसभा)में पेश होगा |यहाँ से बिल पास होने के बाद इसे राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा |राष्ट्रपति महोदय की मंजूरी मिलने के बाद यह कानून बन जाएगा |

2..प्रश्न – मतदाता पहचान पत्र के क्या लाभ हैं ?

उत्तर- मतदाता पहचान पत्र भारतीय मत दाताओं को जारी किए जाने वाला पहचान संबंधी दस्तावेज़ है |इसका इस्तेमाल बैक खाता खोलने ,गैस कनेक्सन और सिम लेने जैसे कामों में प्रयोग किया जाता है |

3.प्रश्न – पहचान पत्र क्या है ?

उत्तर- पहचान पत्र पर ,वोटर का नाम ,वोटर के पिता का नाम ,आयु, लिंग , जन्म तिथि के साथ-साथ मतदाता का पता और विधान सभा क्षेत्र की संख्या भी दर्ज होती है |जिसकी छाया प्रति का उपयोग हर सरकारी या प्राइवेट कार्यों में होता है |

4.प्रश्न- पहचान पत्र बनवाने के लिए व्यक्ति की उम्र कितनी होनी चाहिए ?

उत्तर -पहचान पत्र बनवाने के लिए आवेदक का भारतीय नागरिक और 18 साल से ज्यादा उम्र का होना जरूरी है |

5.प्रश्न – EPIC क्या है ?

उत्तर- EPIC का मतलब इलेक्टर्स फोटो आइडेंटिटी कार्ड है |

6.प्रश्न- पहचान पत्र कबसे जारी किया गया ?

उत्तर- पहनपत्र को वजूद में आए 3 दशक से भी कम समय हुआ है |अगस्त 1993 में तब के मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन ने मत दाताओं के लिए पहचान पत्र बनाने का आदेश दिया |

7.प्रश्न-सेक्स वर्कर का वोटर आईडी कबसे बनने लगा ?

उत्तर-15 दिसंबर 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकार को सेक्स वर्कर के भी वोटर आईडी बनाने का निदेश दिया| इस मद में सुप्रीम कोर्ट ने कहा की किसी के पेशे के कारण बुनियादी अधिकार नहीं छिने जा सकते |

8.प्रश्न-पहचान पत्र के और क्या-क्या फायदें हैं ?

उत्तर -भारतीय पहचान पत्र होने के कई फायदें हैं | जैसे कि यदि आपके पास भारतीय पहचान पत्र है तो आप इससे नेपाल और भूटान कि यात्रा बिना पासपोर्ट के कर सकते हैं |

यह भी पढ़ें :

1.What is PAN TAN and TIN Number 

2. How to check how many sim on your name

 3.Benifits of PPF account

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

604FansLike
2,458FollowersFollow
133,000SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -

Related Blogs

- Advertisement -
Whatsapp Icon